रिचेकिंग कॉपी कैसे चेक होती है 2023 : बढ़ाना चाहते हैं अपने अंक तो जल्दी करो ये काम 20+

काफी सारे विद्यार्थियों का यह सवाल होता है कि जब उनकी परीक्षाएं हो जाती हैं, तो रिजल्ट घोषित किया जाता है जिसके बाद उन्हें कॉपियों को रिचेकिंग करने का भी मौका दिया जाता है l सवाल यह पैदा होता है कि आखिर rechecking process क्या होती है और यह कैसे काम करती है l इस रिचेकिंग प्रोसेस में कॉपियों की जांच कैसे की जाती है, इन सारे सवालों का जवाब आज की इस आर्टिकल में आपको दिया जाएगा l

बहुत से विद्यार्थी जो बोर्ड परीक्षा में कम अंक प्राप्त करते हैं, या फिर किसी सब्जेक्ट में फेल हो जाते हैं तो वह लोग अपनी कॉपियों को दोबारा से जांच करवाने के लिए rechecking के लिए apply करते हैं l इसके बाद कुछ विद्यार्थियों के मन में यह सवाल पैदा होता है कि क्या वाकई में रिचेकिंग करने से कॉपियों में प्राप्तांक बढ़ते हैं, क्या वाकई मेरे रिचेकिंग करवाने के बाद हम दोबारा पास हो जाते हैं, तो दोस्तों आपको बता दें कि यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप की उत्तर पुस्तिका की जांच किस प्रकार की गई है l

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

रिचेकिंग कॉपी कैसे चेक होती है 2023

आज के इस आर्टिकल में हम आपको विशेष रूप से बताएंगे कि रिचेकिंग कॉपी कैसे चेक होती है 2023 ; रिचेकिंग करके किस प्रकार आप अपने अंक में वृद्धि कर सकते हैं, अनुत्तीर्ण हो चुके हो तो रिचेकिंग के बाद पास कैसे हो, इन सभी सारे सवालों का जवाब आज के इस आर्टिकल में दिया जाएगा l तो आइए जानते हैं कि रिचेकिंग प्रक्रिया क्या होती है और यह कैसे काम करती है l

रिचेकिंग कॉपी कैसे चेक होती है 2023
रिचेकिंग कॉपी कैसे चेक होती है 2023

दोस्तों आपको बता दें कि रिजल्ट घोषित होने के बाद विद्यार्थियों के पास दो ऑप्शन आते हैं l पहला ऑप्शन Retotaling का होता है, तो दूसरा ऑप्शन Rechecking का होता है l Rechecking process वह प्रक्रिया होती है जिसमें उत्तर पुस्तिका की दोबारा से जांच की जाती है l यह देखा जाता है कि विद्यार्थी के किस प्रश्नों के अंक उसे नहीं दिए गए हैं और कहीं उसे अंक में कमी तो नहीं की गई है l दोबारा से उत्तर पुस्तिका की जांच की जाती है और उसके बाद जो अंक जोड़े जाते हैं उसी को फाइनल माना जाता है l

रिचेकिंग करके अंक कैसे बढ़ाएं

दोस्तों बहुत से विद्यार्थी जिन्होंने परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद यह पाया कि उन्हें कम अंक मिले हैं, तो अंक बड़वाने का एक ऑप्शन है रिचेकिंग प्रोसेस भी होता है l बशर्ते विद्यार्थी को यह उम्मीद हो कि उसने वाकई में कड़ी मेहनत की थी जिसके बावजूद उसे कम अंक मिले l यदि किसी विद्यार्थी को हिंदी विषय में 54 अंक मिले हैं, जबकि उसे लगता था कि कम से कम उसे पचासी अंक मिलना था, तो ऐसी कंडीशन में वह रिचेकिंग करके अपने अंक बढ़ा सकता है l

दूसरी कंडीशन है कि यदि किसी विद्यार्थी को लगता है कि गणित में उसे 45 अंक मिले हैं जबकि उसे 50 अंक मिलना था, तो बेहतर यही है कि वह रिचेकिंग के लिए आवेदन ना करें, बल्कि 45 अंक को ही सही माने l इसकी वजह यह है कि रिचेकिंग के लिए आपको आवेदन शुल्क का भुगतान करना होता है और बहुत ही कम चांस होते हैं कि आपके अंक बढ़ जाएं l

रिचेकिंग करा के पास कैसे हो जाएं

दोस्तों यदि आप किसी एक विषय में फेल हो चुके हैं और आपको लगता है कि आपने उस विषय में कड़ी मेहनत की थी और आपको पास ही होना था तो आप रिचेकिंग कर सकते हैं, क्योंकि कभी कभार कॉपी जांचने वालों से भी गलतियां हो जाती हैं जिसके कारण विद्यार्थी फेल हो जाते हैं l बेहतर है कि जब आपको उम्मीद हो कि आप पास हो सकते थे इसके बावजूद आप फेल हुए तो आप रिचेकिंग के लिए आवेदन कर दें आप पास हो जाएंगे l

WhatsApp GroupClick Here
Telegram GroupClick Here

Leave a Comment